Important CDP Question For TET, UPTET, REET, SUPERTET and For all Teaching Examination : महत्वपूर्ण मनोविज्ञान के प्रश्न : Erickson's Theory : Important CDP Notes : Important CDP MCQ Questions

 


मनोविज्ञान प्रश्नोत्तरी

Important Physcology Questions: महत्वपूर्ण मनोविज्ञान के प्रश्न

प्रश्न 01 - माण्टेशरी शिक्षा प्रणाली के जनक कौन् माने जाते है

उत्तर - डॉ मारिया माण्टेशरी ;इटली की रहने वाली थी यह विधि इन्द्रियों ;ज्ञानेन्द्रियों  के प्रशिक्षण पर बल देती है।

प्रश्न 02 - खेल पद्धत्ति के जनक कौन माने जाते है

उत्तर - हेनरी क्राल्डवेल कुक ।

प्रश्न 03 - डाल्टन पद्धत्ति के जनक कौन माने जाते है

उत्तर - कुमारी हैलन पार्क हर्स्ट ।

प्रश्न 04 - पर्याटन विधि के जनक कौन माने जाते है

उत्तर - पेस्टोलॉजी ।

प्रश्न 05 - खोज अनुसन्धान हूरिस्टिक विधि के जनक कौन माने जाते है

उत्तर - आर्मस्ट्रांग

प्रश्न 06 - खोज विधि का सम्बन्ध किस से माने जाते है

उत्तर - भूतकाल से

प्रश्न 07 - अन्वेशण विधि के जनक कौन माने जाते है

उत्तर - आर्मस्ट्रांग

प्रश्न 08 - अन्वेशण विधि का सम्बन्ध किस से माने जाते है

उत्तर - वर्तमान काल से

पश्न 09 - पढाने की सबसे अच्छी कौन सी विधि माने जाते है

उत्तर - प्रोजक्ट विधि

प्रश्न 10 - परियोजना विधि के जनक कौन माने जाते है

उत्तर - अमेरिका के मशहूर शिक्षा शास्त्री जॉन डेवी के योग्य शिष्य  किल पैट्रिक माने जाते हैं।

पश्न 11 - सूक्ष्म शिक्षण ; माइक्रोटीचिंग  के जनक कौन माने जाते है

उत्तर - रोर्बट बुश ।

प्रश्न 12 - इकाई उपागम के जनक कौन माने जाते है

उत्तर - मौरिशन

Supertet important Question

प्रश्न 13 - जन्म के समय बालक मे कितनी हड्डियां होती है।

उत्तर - 270

प्रश्न 14 - शरीर मे सबसे लम्बी हड्डी का नाम क्या माने जाते है

उत्तर - फीमर जो जॉग मे होती है।

प्रश्न 15 - शरीर मे सबसे छोटी हड्डी का नाम क्या है।

उत्तर -  स्टेपीज जो कान मे होती है

प्रश्न 16 - शरीर मे सबसे मजबूत हड्डी  का क्या नाम है।

उत्तर - मण्डीवल जो कि जबडे मे होती है।

पश्न 17 - जन्म के समय नवजात शिशु की त्वचा का रंग कैसा होता है।

उत्तर - हल्का गुलाबी

नोट - 15 दिन के बाद त्वचा मूल यानि जैसा पहला था वैसे रंग को प्राप्त कर लेती है।

प्रश्न 18 - नवजात शिशु कितने घण्टे तक सोता है।

उत्तर - नवजात शिशु 18 से 20 घण्टे लेकिन वह हर 2 घंण्टे मे जागकर अपनी मासपेसियो को घुमाता है।

प्रश्न 19 - बालक का विकास 6 बर्ष तक लगभग कितने प्रतिशत तक पूरा हो जाता है।

उत्तर - 90 प्रतिशत लगभग

प्रश्न 20 - बालक का विकास 10 वर्ष तक लगभग कितने प्रतिशत तक पूरा हो जाता है।

CDP Important Questions

उत्तर - 95 प्रतिशत लगभग

प्रश्न 21 - बाल्य अवस्था में बालक की हड्डियॉ कितनी होती है।

उत्तर - बाल्य अवस्था में बच्चे की हड्डियों की संख्या लगभग 270 से 350 तक हो जाती है।

प्रश्न 22 - निःशुल्क एवं बाल शिक्षा का अधिकार एवं अधिनियम 2009 का विस्तार किस राज्य मे नही हुआ ।

उत्तर - जम्मू कश्मीर

प्रश्न 23 - शिक्षा का अधिकार 2009 के तहत निजी विद्यालय को कितने प्रतिशत सीट आरक्षित करना अनिवार्य होगा ।

उत्तर - 25 प्रतिशत

प्रश्न 24 - 12 वर्ष तक के बालक के दिमाग का भार कितना हो जाता है ।

उत्तर - लगभग 1260 ग्राम जबकि होता है जबकि एक स्वाथ्य मनुष्य के मतिष्क का भार लगभग 1400 ग्राम होता है।

प्रश्न 25 - मनुष्य के शरीर में कितनी हड्डियॉ कितनी होती है।

उत्तर - 206 हड्डियॉ होती है मनुष्य के शरीर में .। जबकि बालक के जन्म के समय बालक में 270 हड्डियॉ होती है एवं बाल्य अवस्था में बालक ही हड्डियॉ 350 होती है।   

प्रश्न 26 - किशोर अवस्था की मुख्य विशेषता कौन सी होती है।

उत्तर - आत्म गौरव

प्रश्न 27 - विकास जो कि व्यक्ति में नवीन विशेषताऍ और योग्याताऍ प्रस्फुटित करता है यह कथन किस वैज्ञानिक का है।

उत्तर - हरलॉक

प्रश्न 28 - जिस प्रक्रिया से व्यक्ति मानव के लिए पूरी तरह निर्भर होकर व्यवहार करना सीखता है वह प्रकिया है।

उत्तर - समाजीकरण

प्रश्न 29 - किशोरावस्था एक नया जन्म है और इसमें  उच्चतर और श्रेष्ठतर मानव विशेषताओं का जन्म होता है कथन किस वैज्ञानिक का  है-

उत्तर - स्टेनली हॉल

प्रश्न 30 - किशोरों की जटिल अवस्था के कारण किशोरों के अध्ययन का विषय आखिर क्या होना चाहिए-

उत्तर - शरीर तथा मन संबंधी

प्रश्न 31 - किशोरावस्था एक आदर्शों की अवस्था है और  सिद्धांतों के निर्माण की अवस्था है साथ ही साथ जीवन का समान्य समायोजन है यह परिभाषा देने वाले कौन है-

उत्तर - जीन पियाजे

प्रश्न 32 - एक शिक्षक शिक्षार्थी के मानसिक विकास का ज्ञान प्राप्त करके जिसकी योजना नही बन सकता वह कौन सा विकास है ?

उत्तर - शारीरिक विकास

प्रश्न 33 - मनुष्य के शरीर में हड्डियों की संख्या कम से कम किस अवस्था में होती है-

उत्तर - प्रौढ़ावस्था में

प्रश्न 34 - किसे  प्रशिक्षण द्वारा व्यवहार या चरि.त्र में संसोधन की प्रक्रिया माना गया है।

उत्तर - अधिगम

प्रश्न 35 - किशोरावस्था की प्रमुख समस्या या जटिलता क्या  है-

उत्तर - समायोजन की

प्रश्न 36 - संवेदना ज्ञान की पहली सीढ़ी है यह किस विकास की ओर संकेत करता है -

उत्तर - मानसिक विकास है।

प्रश्न 37 - किशोरावस्था यह बड़े ही संघर्ष तूफान और विरोध की अवस्था है यह कथन किसका है-

उत्तर - स्टेनली हॉल का


शिक्षा और बाल मनोविज्ञान के कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न: Important Question of Child Development And Pedagogy

प्रश्न .1- व्यवहार के कारण व्यवहार में परिवर्तन ही अधिगम है। यह परिभाषा किसने दी    

1- स्किनर         2- हिलगार्ड   

3- गिलफोर्ड      4- गेट्स    

उत्तर .  3 √    


प्रश्न .2- शाब्दिक अधिगम सिद्धांत के प्रवर्तक कौन माने जाते हैं ?  

1- हेगरटी        2- आसुबेल    

3- कार्ल रोजर्स      4- स्किनर   

उत्तर .  2 √    


प्रश्न .3- अभिप्रेरणा से संबंधित व्यवहार का लक्षण कौनसा माना गया  है .  

1- दिवास्वप्न        2- उत्सुकता   

3- आलस्य      4- कुसमायोजन 

उत्तर .  2 √    


प्रश्न .4- भारतीय आयुर्वेद के अनुसार व्यक्तित्व और व्यवहार का निम्न में से कौनसा प्रकार नहीं है       

1- वात प्रधान    

2- पित्त प्रधान    

3- कफ प्रधान      

4- रुधिर प्रधान        

उत्तर .  4 √    


प्रश्न .5- मूल प्रवृत्ति शिशु यानि छोटा बच्चे की रक्षा का संबंध किस संवेग से है    

1- आमोद         2- घृणा     

3- वात्सल्य        4- कामुकता   

उत्तर .  3 √       


प्रश्न .6- कौन सी अवस्था में संग्रह करने की प्रवृत्ति अधिक पायी जाती है ?

1- बाल्यावस्था में    

2- प्रौढ़ावस्था में    

3- किशोरावस्था में    

4- शैशवावस्था में    

उत्तर .  1 √    


प्रश्न .7- प्राथमिक स्तर की शिक्षा में क्या होनी चाहिए .    

1- सैद्धांतिकता      2- सक्रियता 

3- नीरसता           4- सभी    

उत्तर .  2 √      


प्रश्न .8- वंश परम्परा के मुख्य वाहक कौन कौन से हैं .    

1- प्रजनन         2- पर्यावरण  

3- स्त्री             4- जीन     

उत्तर .  4 √     


प्रश्न .9- महान वैज्ञानिक गैरट ने बुद्धि का कौनसा प्रकार नहीं बताया है .    

1- मूर्त       

2- अमूर्त        

3- आर्थिक      

4- सामाजिक        

उत्तर .  3 √    


प्रश्न .10- प्रयोगात्मक मनोविज्ञान के जनक माने जाते हैं .    

1- विलियम वुण्ट    

2- थॉर्नडाइक    

3- सुकरात       

4- वाटसन    

उत्तर .  1 √



नीचे लिखे गए कुछ सिद्धांत जो कि महान वैज्ञानिक एरिक्सन द्धारा लिखे गए हैं आप सभी बहुत ही ध्यान से सभी सिद्धांत को पढ़ लिजिए


ऐरिक्सन के सिद्धान्त: Erickson's Theory

ऐरिक्सन के सिद्धान्त के अनुसार पूरा जीवन विकास के आठ चरणों से होकर जाता है। प्रत्येक चरण में एक विशिष्ट विकासात्मक मानक होता हैए जिसे पूरा करने में आने वाली समस्याओं का समाधान करना आवश्यक होता है। ऐरिक्सन के अनुसार समस्या कोई संकट नहीं होती हैए बल्कि संवेदनशीलता और सामर्थ्य को बढ़ाने वाला महत्वपूर्ण बिन्दु होती है। समस्या का व्यक्ति जितनी सफलता के साथ समाधान करता है उसका उतना ही अधिक विकास होता है। 


1-विश्वास बनाम अविश्वास : Faith vs Mistrust

 यह ऐरिक्सन का पहला मनोसामाजिक चरण है जिसका जीवन के पहले वर्ष में अनुभव किया जाता है। विश्वास के अनुभव के लिए शारीरिक आराम कम से कम डर भविष्य के प्रति कम से कम चिन्ता जैसी स्थितियों की आवश्यकता होती है। बचपन में विश्वास के अनुभव से संसार के बारे में अच्छे औरसही सकारात्मक विचार जैसे संसार रहने के लिए एक अच्छी जगह मानी जाती है आदि उम्रभर के लिए विकसित हो जाते हैं। 


2-स्वायत्ता बनाम शर्म : Avacity vs Shame

ऐरिक्सन के द्वितीय यानी दूसरे विकासात्मक चरण में यह स्थिति शैशवावस्था के उत्तरार्ध और बाल्यावस्था जो 1 से लेकर 3 वर्ष के बीच होती है। अपने पालक के प्रति विश्वास होने के बाद बालक यह आविष्कार करता है कि बालक का व्यवहार उसका स्वयं का है। वह अपने आप में स्वतंत्र और स्वायत्त है। उसे अपनी इच्छा का अनुभव होता है। अगर बालक पर अधिक बंधन या रोक लगाया जाए या कठोर दंड दिया जाए तो उनके अंदर शर्म और संदेह की भावना विकसित होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है। 


3-पहल बनाम अपराध बोध : Initiative vs Guilt

 ऐरिक्सन के विकास का यह तीसरा चरण शाला जाने के प्रारंभिक वर्ष के बीच होता है। एक प्रारंभिक शैशवावस्था की तुलना में और अधिक चुनौतियां झेलनी पड़ती हैं। इन चुनौतियों का सामना करने के लिए एक सक्रिय और प्रयोजन पूर्ण व्यवहार की आवश्यकता होती है। इस उम्र में बच्चों को उनके शरीर उनके व्यवहार उनके खिलौने और पालतू पशुओं के बारे में ध्यान देने को कहा जाता है। अगर बालक गैर जिम्मेदार है और उसे बार-.बार व्यग्र किया जाए तो उनके अंदर असहज अपराध बोध की भावना उत्पन्न हो सकती है। ऐरिक्सन का इस चरण के प्रति एक सकारात्मक दृष्टिकोण है उनका यह मानना है कि अधिकांश अपराध बोध की भावनाओं के प्रति तुरंत पूर्ति ही उपलब्धि की भावना द्वारा की जा सकती है। 


4-परिश्रम उद्यम बनाम हीन भावना : Inferiority complex versus diligent enterprise

 यह ऐरिक्सन का चौथा विकासात्मक चरण है जो कि बाल्यावस्था के मध्य में ;प्रारंभिक वर्षां में परिलक्षित होता है। बालक द्वारा की गई पहल से वह नए अनुभवों के संपर्क में आता है। और जैसे.जैसे वह बचपन के मध्य और अंत तक पहुंचता है तब तक वह अपनी ऊर्जा को बौद्धिक कौशल और ज्ञान से हासिल करने की दिशा में मोड़ देता है। बाल्यावस्था का अंतिम चरण कल्पनाशीलता से भरा होता है यह समय बालक के सीखने के प्रति जिज्ञासा का सबसे अच्छा समय होता है। इस आयु में बालक के अन्दर दूसरों से जलन या आप इसे  हीनभावना भी कह सकते हैं ;अपने आपको अयोग्य और असमर्थ समझने की भावना विकसित होने की संभावना रहती है। 


5-पहचान बनाम पहचान भ्रान्ति :Identity versus identity fallacy

 यह ऐरिक्सन का पांचवा विकासात्मक चरण है जिसका अनुभव किशोरावस्था के वर्षों में होता है। इस समय व्यक्ति को इन प्रश्नों का सामना करना पड़ता है कि वो कौन है किसके संबंधित है और उनका जीवन कहां जा रहा है किशोरों को बहुत सारी नई भूमिकाएं और वयस्क स्थितियों का सामना करना पड़ता है जैसे व्यावसायिक और रोमेंटिक। उदाहरण के लिए अभिभावकों को किशोरों की उन विभिन्न भूमिकाओं और एक ही भूमिका के विभिन्न भागों का पता लग सकता है जिनका वह जीवन में पालन कर सकता है। यदि इसके सोच समझ के साथ सकारात्मक रास्ते पता लगाने का मौका न मिले तब पहचान भ्रान्ति की स्थिति हो जाती है। 


6-आत्मीयता बनाम अलगाव : Affinity vs isolation

यह ऐरिक्सन का छटवां चरण है। जिसका अनुभव युवावस्था के प्रारंभिक वर्षो में होता है। यह व्यक्ति के पास दूसरों से आत्मीय संबंध स्थापित करने का विकासात्मक मानक है। एरिक्सन ने आत्मीयता को परिभाषित करते हुए कहा है कि आत्मीयता का अर्थ है स्वयं को खोजना जिसमें स्वयं को किसी और व्यक्ति में खोजना पड़ता है। व्यक्ति की किसी के साथ स्वस्थ मित्रता विकसित हो जाती है और एक आत्मीय संबंध बन जाता हैए तब उसके अंदर आत्मीयता की भावना आ जाती है। यदि ऐसा नहीं होता है तो अलगाव की भावना उत्पन्न हो जाती है। 


7-उत्पादकता बनाम स्थिरता : Productivity vs sustainability

 यह ऐरिक्सन का सातवां चरण है जो मध्य वयस्क अवस्था में अनुभव होता है। उस चरण का मुख्य उद्देश्य नई पीढ़ी को विकास में सहायता से संबंधित होता है। महान वैज्ञानिक ऐरिक्सन का उत्पादकता से यही अर्थ निकलता  है कि नई पीढ़ी के लिए कुछ नहीं कर पाने की भावना से स्थिरता की भावना उत्पन्न होती है और यही हमें जीवन के नए स्तर पर ले जाती है।


8-संपूर्णता बनाम निराशा :Wholeness vs. despair.

यह ऐरिक्सन का आठवां और अंतिम चरण है। जो कि वृद्धावस्था में अनुभव होता है। इस चरण में व्यक्ति अपने अतीत को टुकड़ों में एक साथ याद करता है और एक सकारात्मक निष्कर्ष निकालता है या फिर बीते हुए जीवन के बारे मे

                                      DISCLIMAR
यह पोस्ट द्वारा तैयार किया गया है जिसमें कहीं से भी कोई भी कंटेट ना तो काॅपी किया गया है न तो देखा गया है अतः आप सभी बिना किसी संकोच के इस पोस्ट को पढ़ सकते है 
यदि इस पोस्ट को गलत तरीके से इस्तेमाल किया गया तो उसपर  कार्यवाही की जाएगी
धन्यवाद

Previous
Next Post »

किसी भी प्रकार की सहायता के लिए नीचे कमेंट कर सकते हैं